गोवर्धन पूजा 2019 मे कब है? तिथि, मुहूर्त, कहानी या कथा, निबंध और महत्व When is Indian festival govardhan Puja in 2019? in hindi,date of govardhan Puja in hindi

गोवर्धन पूजा व अन्नकूट पर्व कब है मुहूर्त Govardhan Puja 2019 In Hindi



दीपावली के दूसरे दिन होने वाली गोवर्धन पूजा का हमारे समाज में अत्यधिक महत्व (Importance) है गोवर्धन पूजा के नाम से स्पष्ट होता है कि यह पूजा गोवर्धन पर्वत (Mountain) की पूजा है ।

गोवर्धन पूजा की तिथि एवं मूहूर्त


तिथि : 28 अक्टूबर 2019 दिन गुरूवार
मुहूर्त : सुबह 06:35 बजे से सुबह 08:50 बजे तक ।

गोवर्धन पूजा की विधि


गोवर्धन पूजा में गोवर्धन की प्रतिमा (Statue) गाय के गोबर से बनाई जाती है साथ ही दैनिक उपयोग की वस्तुओं को मिट्टी से बनाया जाता है उसके बाद उनकी पूजा की जाती है । भगवान कृष्ण की भी पूजा की जाती है ।

गोवर्धन पूजा की कथा


एक बार जब सारे (All) गोकुलवासी किसी पूजा की तैयारी (Preparation) कर रहे थे तब भगवान कृष्ण ने पूछा कि यह किस पूजन की तैयारी चल रही है तब माँ ने उन्हें बताया कि यह भगवान इंद्र के पूजन की तैयारी चल रही है क्योंकि उन्हीं की वजह (Cause) से वर्षा होती है और अन्न (Food) पैदा होता हैं परंतु इस विषय में भगवान कृष्ण का मत भिन्न था । उनके अनुसार उन्हें इंद्र की नहीं बल्कि गोवर्धन पर्वत की पूजा करनी चाहिए क्योंकि सब कुछ उन्हीं के द्वारा (Through) है गांव वालों को भगवान कृष्ण की बात सही लगी और उन्होंने इंद्र की जगह गोवर्धन पर्वत की पूजा (Prayer) की ।

-----------

  गांव वालों द्वारा अपनी पूजा ना करने पर भगवान इंद्र काफी नाराज (Angry) हुए और उन्होंने मुसलाधार वर्षा शुरू कर दी तब भगवान कृष्ण ने अपनी एक उंगली (Finger) पर गोवर्धन पर्वत को उठा कर सारे गांव वालों को बचा लिया गांव में क्या मनुष्य, क्या जानवर सब के सब उस पर्वत के नीचे छुप गए (Hidden) ।

  उधर देवताओं के राजा इंद्र लगातार वर्षा करते रहे परंतु भगवान कृष्ण के प्रभाव से उनके सारे किए पर पानी फिरता रहा आखिर में जब उन्हें पता चला कि कृष्ण, भगवान विष्णु के अवतार हैं तब उन्होंने भगवान कृष्ण से माफी मांगी (Apologized) तभी से गोवर्धन पर्वत की पूजा होती चली आ रही है ।

गोवर्धन पूजा का महत्व


 गोवर्धन पूजा का एक विशेष महत्व  (Importance) है क्योंकि इस धरा (Earth) पर जो कुछ भी है वह सब हमें कुछ ना कुछ दे रहा है और उन्हीं के वजह से हम जीवित हैं इसीलिए हमें सभी प्राकृतिक संसाधनों (Resources) का हमेशा धन्यवाद करना चाहिए आज कल के युग में हम इसके प्रति बिल्कुल अज्ञानी (Ignorant) बनते जा रहे हैं जिसके कारण आज ग्लोबल वार्मिंग (Global Warming) सहित तमाम समस्याएं सामने आ रही हैं ।


   Writer
  Karan "GirijaNandan"
 With  
 Team MyNiceLine.com

यदि आप के पास कोई कहानी, शायरी , कविता  विचार या कोई जानकारी ऐसी है जो आप यहाँ प्रकाशित करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपने नाम और अपनी फोटो के साथ हमें इस पते पर ईमेल करें:
  Contact@MyNiceLine.com
  हम  आपकी पोस्ट को, आपके नाम और आपकी फोटो (यदि आप चाहे तो) के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे ।

  "गोवर्धन पूजा व अन्नकूट पर्व 2019: तिथि मुहूर्त, पूजा विधि, कथा व महत्व" आपको कैसा लगा, कृपया नीचे कमेंट के माध्यम से हमें बताएं । लेख यदि पसंद आया हो तो कृपया इसे Share जरूर करें !

हमारी नई पोस्ट की सुचना Email मे पाने के लिए सब्सक्राइब करें

loading...