19 November, 2018

इन्दरा गांधी का जीवन परिचय और इतिहास Indira Gandhi Biography In Hindi

loading...

इन्दरा गांधी का जीवन परिचय। इन्दरा गांधी का इतिहास और उनकी जीवनी।प्रथम महिला प्रधानमंत्री नेहरू मे संबंध | indira gandhi's biography and his history in hindi

जन्म - 19 नवंबर सन् 1917
स्थान - इलाहाबाद अब प्रयागराज
पिता का नाम - जवाहरलाल नेहरू
माता का नाम - कमला नेहरू
पति का नाम - फिरोज गांधी
पुत्र- राजीव गाँधी, संजय गांधी
पेशा - राजनीति
पद - सूचना और प्रसारण मंत्री, प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री कार्यालय - सन् 1966-1977 तथा 1980-1984
मृत्यु - 31 अक्टूबर 1984
-----
loading...
-----
  आयरन लेडी इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवंबर सन् 1917 को उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में हुआ था जिसका नाम अब बदल कर प्रयागराज हो चुका है । इंदिरा गांधी भारत के स्वतंत्रता सेनानी एवं प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की पुत्री थी । 

  इंदिरा गांधी बचपन से ही काफी प्रतिभाशाली थी हालांकि उन्होंने काफी कम उम्र में ही अपनी मां को खो दिया था । उनकी मां कमला नेहरू का सन् 1936 मे देहावसान हो गया था जिसके उपरांत इंदिरा गांधी काफी अकेली पड़ गई । हालांकि उनके पिता पंडित जवाहरलाल नेहरू ने इंदिरा गांधी को माता पिता दोनों का भरपूर प्यार दिया ।

  इसी क्रम में उन्होंने पद्मजा नायडू से काफी करीबी रिश्ता होने के बावजूद सिर्फ इसलिए विवाह नहीं किया क्योंकि इंदिरा गांधी को पद्मजा नायडू पसंद नहीं थी । ऐसे में वे मां की गम में दुखी रह रही बेटी इंदिरा गांधी को और दुखी नहीं करना चाहते थे । 

  इंदिरा गांधी का विवाह सन् 1942 में फिरोज गांधी से हुआ जो कि एक पारसी थे । सन 1966 में देश की इस शक्तिशाली महिला ने प्रधानमंत्री पद की कमान संभाली । अपने कार्यकाल में इंदिरा गांधी ने देश ही नहीं अपितु समूचे विश्व मे चर्चा का विषय बनीं रहीं । 

  इंदिरा गांधी सन् 1966 से लेकर 1977 तक भारत की प्रधानमंत्री रहीं । उन्होंने अपने प्रधानमंत्री कार्यकाल में भारत को आगे ले जाने के हर संभव प्रयास किए । इंदिरा गांधी के कार्यकाल की प्रमुख उपलब्धियों में हरित क्रांति को मुख्य रूप से जाना जाता है जिसके फलस्वरूप भारत में अन्न की समस्या पर बहुत हद तक काबू पा लिया गया ।
-----
loading...
-----
  इससे पहले वो सर्वप्रथम 1964 में राज्यसभा की सांसद तथा सूचना और प्रसारण मंत्री बनी भारत के धुर विरोधी पाकिस्तान को कमजोर करने की नीति के अंतर्गत इंदिरा गांधी जी ने सन् 1971 में पाकिस्तान के दो फाट करा दिए जिसमे से एक भाग अब बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है ।

  कुछ झूठे अफवाहों के चलते  इंदिरा गांधी को  अपने  प्रधानमंत्री  की सीट गंवानी पड़ी इतना ही नहीं उन्हें अपनी संसदीय सीट भी गंवानी पड़ी परंतु जल्द ही जनता ने हकीकत जान लिया और मात्र 3 वर्षों के बाद यानी सन् 1980 में  भारी बहुमत के साथ  इंदिरा गांधी ने एक बार फिर देश के प्रधानमंत्री पद् की शोभा बढ़ाई ।

  देश को ऊंचाइयों पर ले जाने वाली इस महिला को उन्हीं के सुरक्षाकर्मियों ने मारकर मौत के घाट उतार दिया और इस प्रकार 31 अक्टूबर सन् 1984 में इस महान आत्मा ने दुनिया को अलविदा कह दिया ।

  इंदिरा गांधी ने दो पुत्रों को जन्म दिया । जिसमें से बड़े बेटे का नाम स्वर्गीय राजीव गांधी एवं छोटे बेटे का नाम स्वर्गीय संजय गांधी है । इंदिरा गांधी के बड़े बेटे राजीव गांधी एक पायलट थे  जिनका विवाह श्रीमती  सोनिया गांधी से हुआ था । कहां जाता है कि इंदिरा गांधी का अपने छोटे बेटे संजय गांधी से कुछ मतभेद हो गए थे । हालांकि एक प्लेन क्रैश में संजय गांधी को अपनी जान गंवानी पड़ी । उनकी पत्नी  मेनका गांधी एवं पुत्र  वरुण गांधी राजनीति में काफी अग्रसर है ।

  वहीं इंदिरा गांधी के चले जाने के बाद उनके बड़े बेटे राजीव गांधी ने प्रधानमंत्री पद् की कमान संभाली परंतु दुर्भाग्यवश कुछ अमानवीय शक्तियों ने उनकी उनकी हत्या कर दी जिसके परिणामस्वरूप देश की राजनीति मे भूचाल आ गया और तह पार्टी को संभालने के लिए उनकी पत्नी सोनिया गांधी और उनके पुत्र राहुल गांधी राजनीति में आगे आए ।
-----
loading...
-----
 Article पसंद आई हो तो कृपया Share, Comment & हमें follow जरूर करें ! ... thanks.

  Writer
  Karan "GirijaNandan"
 With  

                    

 अगर आपके पास कोई विचार, कोई जानकारी, कहानीशायरी , कविता ,  या कुछ भी ऐसा है जो आप इस वेबसाइट पर पोस्ट [Publish] कराना चाहते हैं तो उसे कृपया अपने नाम और अपने फोटो के साथ हमें भेजें
 --या--
हमें ईमेल करें हमारी Email-id है:-
  हम  आपकी पोस्ट को, आपके नाम और आपकी फोटो (यदि आप चाहे तो) के साथ यहाँ www.MyNiceLine.com पर Publish करेंगे ।

 हमें उम्मीद है कि आपको हमारी ये Article पसंद आई होगी । इस Article के विषय मे अपने विचार कृपया कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं । यदि यह Article आपको पसंद आई हो तो कृपया अपने दोस्तों और परिवार के लोगों को हमारी वेबसाइट www.MyNiceLine.com के बारे में जरूर बताएं । आप से request है कि, 2 मिनट का समय निकालकर इस Article को, अपने सोशल मीडिया अकाउंट  [facebook, twitter, google plus आदि] पर Share जरूर करें ताकि आप से जुड़े लोग भी इस Article का आनंद ले सकें और इससे लाभ उठा सकें । इन Article को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर प्राप्त करने के लिए हमारे सोशल मीडिया साइट्स [facebooktwittergoogle plus आदि] को कृपया follow करें ।  हमारे Article को अपने Email मे प्राप्त करने के लिए कृपया अपना Email-id भेजें ।

loading...
MyNiceLine
MyNiceLine

MyNiceLine.com शायरी, कविता, प्रेरणादायक कहानीयों, जीवनी, प्रेरणादायक विचारों, मेक मनी एवं स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट है । जिसका मकसद इन्हें ऐसे लोगों तक ऑनलाइन उपलब्ध कराना है जो इससे गहरा लगाव रखते हैं !!

Follow Us On Social Media

About Us | Contact Us | Privacy Policy | Subscribe Now | Submit Your Post