How To Succeed in Marketing And Network Marketing (Direct Selling)


ना बने गंभीर


दोस्तों आप अपनी लाइफ में किसी न किसी सेल्सबॉय से जरूर मिले होंगे । उनमें से कुछ आपको पसंद आए होंगे जिनमें से कुछ शायद आपको याद भी हो । उनके पसंद आने की वजह कुछ भी हो सकती है जैसे उनकी लुक, उनका ड्रेसिंग सेंस, उनके बातचीत का अंदाज परंतु एक चीज जो लोगों के दिलो में जगह बनाने के लिए बेहद जरूरी है या यूं कह की बात को स्टार्ट करने के लिए सबसे अहम है वह है आपका हंसमुख स्वभाव ।

दोस्तों यदि मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में सफल होना है तो आपको हंसमुख स्वभाव का होना होगा, आपके चेहरे पर हमेशा मुस्कुराहट होनी चाहिए क्योंकि ऐसे लोगों को लोग ज्यादा पसंद करते हैं, उनकी तरफ जल्दी अट्रेक्ट होते हैं ।


लोगों से मिले


दोस्तों मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में सफल होने के लिए जो सबसे अहम है वो है लोगों से मिलना । आप जितना ज्यादा लोगों से मिलेंगे आपकी सफलता के उतने ही ज्यादा  आसार बनते चले जाएंगे । यहां मिलने से आशय ढेर सारे लोगों से मिलना नहीं है बल्कि जिन्हे आप अपने बिजनेस के हिसाब टार्गेट कर रहे हैं उनसे मिलना और उनसे बार-बार मिलना है । दोस्तों जैसे गैस पर रखा दूध धीरे-धीरे उफान लेता है वैसे ही रिलेशनशिप और विश्वास भी धीरे-धीरे बनते हैं । आप जितनी बार लोगो से मिलेंगे आपके रिश्ते उनसे उतने ही ज्यादा मजबूत होते जाएंगे ।


अपना कस्टमर पहचाने


तो दोस्तों अब आप ये समझ ही गए होंगे की मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया  में सफल होने के लिए लोगों से मिलना कितना अहम है अब सवाल इस बात का है कि हमें किन से मिलना होगा । दोस्तों किसी भी बिजनेस में कामयाब होने के लिए आपको यह समझना बेहद अहम है कि आपका कस्टमर कौन है मै एक एग्जांपल से अपनी बात आपको समझाना चाहूंगा

दोस्तों यदि कोई जनरल मर्चेंट की दुकान किसी ऐसे इलाके में है जहां लोअर या मिडल क्लास फैमिली के लोग रहते हैं तो निश्चित रूप से वहां ब्रांडेड की बजाए सस्ते प्रोडक्ट की डिमांड ज्यादा होगी और साथ ही साथ प्रोडक्ट के बड़े पैक की बजाए छोटे-छोटे पैक खासकर शैसे जैसे आइटम ज्यादा बिकेंगे । वहीं अगर कोई जनरल मर्चेंट की दुकान मेन शहर में है तो निश्चित रूप से वहां ऐसे सस्ते ब्रांड्स के साथ-साथ बड़े ब्रांड की भी मांग दिखेगी और सबसे खास बात यह की यहां हर ब्रांड के छोटे-बड़े सभी पैक की डिमांड होगी । अब इसी बात को हम उलट देते हैं जहां मर्चेंट के पास कस्टमर ऑलरेडी हैं,  उसे अपने कस्टमर के हिसाब से प्रोडक्ट का चुनाव करना है ठीक इसके विपरीत हमारे पास प्रोडक्ट ऑलरेडी है और हमें अपने प्रोडक्ट के हिसाब से अपने कस्टमर्स चुनने हैं हमें ऐसे कस्टमर्स को तलाशना होगा जो हमारे प्रोडक्ट से मिलते जुलते प्रोडक्ट यूज कर रहे हो ।

माफ करिए लेकिन दोस्तों ब्रांडेड सामान यूज करने वाले लोगो को यदि आप अपने प्रोडक्ट को सस्ता बताकर बेचना चाहेंगे तो वह आपके प्रोडक्ट को नहीं खरीदेंगे और यदि एक दो लोगों ने ऐसा कर भी लिया तो इससे आपका टारगेट अचीव नहीं होगा । कुछ इसी तरह, यदि आप कम बजट वाले लोगों को ब्रांडेड प्रोडक्ट की क्वालिटी बताकर उन्हें सेल करना चाहेंगे तो वे उसे अफोर्ड नहीं कर पाएंगे इसीलिए यदि आप सक्सेस चाहते हैं तो अपने प्रोडक्ट के हिसाब से अपना कस्टमर ढूंढिए यह आपके बिजनेस का सबसे कठिन और सबसे अहम भाग है क्योंकि सफलता सिर्फ इसी बात पर डिपेंड करती है कि आपमे अपना कस्टमर पहचानने की क्षमता कितनी है ।


बनाए एक्शन प्लान


तो दोस्तों लोगों से मिलना कितना अहम है और हमें अपना टारगेटिंग कस्टमर किसे बनाना चाहिए ये हम समझ चुके हैं तो दोस्तों अब बात करते हैं एक अच्छे एक्शन प्लान की । दोस्तों बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्होंने एक्शन प्लान को कभी महत्व नहीं दिया । उनके हिसाब से इसकी कोई जरूरत नहीं । वे रोज सुबह उठकर अपने काम में लग जाते हैं और काफी कड़ी मेहनत भी करते हैं मगर फिर भी कुछ बड़ा अजीव नहीं कर पाते । उसका सबसे बड़ा कारण, उनके पास एक बेहतर एक्शन प्लान का ना होना है।

दोस्तों आपको याद होगा कि स्कूल के दिनों में हमें दो नोटबुक मिला करती थी, एक क्लास वर्क और दूसरा होमवर्क ।, दोस्तों जिसका होमवर्क जितना बेहतर होगा वह फिल्ड मे उतना बेहतर करेगा । यदि आपका होमवर्क जीरो है तो आप फिल्ड में भी जीरो रहेंगे इसलिए सबसे पहले आपको अगले दिन का एक्शन प्लान तैयार करना है । इसमें आपको वह हर जरूरी चीजें लिखनी है जो आप कल करने वाले हैं जैसे आपको कल किन लोगों से मिलना है । उन्हें कौन-कौन से प्रोडक्ट प्रजेंट करने हैं । अगर इससे पहले आपकी उनसे मुलाकात हो चुकी है तो उस समय आप की बात कहां खत्म हुई थी क्योंकि आपको इस बार भी अपनी बात वहीं से शुरू करनी है । हो सके तो आप पूरे सप्ताह भर का एक्शन प्लान बना ले क्योंकि यह आपको एक्टिव रखता है ।

एक और खास बात किसी ग्राहक से रोज-रोज नहीं मिला जा सकता और साथ ही इतने वक्त बाद भी मिलना ठीक नहीं जब वह आपको भूल चुका हो इसलिए मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में फ्रीक्वेंसी बहुत मायने रखती है यह कस्टमर के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है । मगर सही फ्रीक्वेंसी सफलता के लिए बहुत जरूरी है इसलिए आप जीनसे भी मिले उनका रिकॉर्ड मेंटेन करें और एक टाइम पीरियड के बाद उनसे दोबारा मिलने की कोशिश करें ।


रखें ड्रेसिंग सेंस का ख्याल


ग्राहक कोई भी प्रोडक्ट खरीदने से पहले उस पर विश्वास करना चाहता । यह विश्वास दो चीजों पर निर्भर करता है, पहला तो आप जिस ब्रांड को प्रजेंट करना चाहते हैं वह कितना ज्यादा पॉपुलर है, उसकी मार्केट इमेज क्या है यानी लोग उसपर कितना ट्रस्ट करते हैं और दूसरा प्रोडक्ट को प्रजेंट करने वाले बंदे पर यानी प्रोडक्ट बेचने वाले बंदे की लुक, उसके बातचीत का अंदाज और साथ-साथ उसका ड्रेसिंग सेंस । यदि कहीं भी कोई कमी रह जाती है तो अगला आपके प्रोडक्ट पर चाह कर भी भरोसा नहीं कर पाएगा इसीलिए अपनी ड्रेसिंग सेंस का हमेशा ख्याल रखें ।


प्रोडक्ट का हो अच्छा ज्ञान


दोस्तों अक्सर लोग थोड़ा-बहुत ज्ञान जुटाने के तुरंत बाद प्रोडक्ट सेल करने फील्ड में उतर जाते हैं और आगे भी वो नॉलेज बढ़ाने की नही सोचते । उन्हें लगता है वो ग्राहक के प्रश्नों का उत्तर घुमा फिराकर दे ही देंगे और इस प्रकार उनका काम हो जाएगा ।

मगर ऐसा नहीं है दोस्तों अगला हमसे प्रोडक्ट के बारे में कोई भी क्रास क्वेश्चन कर सकता है । यह डिपेंड करता है कि उसके मन में कब कौन सा सवाल उत्पन्न हुआ और यह हमारे लिए एक अपॉर्चुनिटी हो सकती है अर्थात उसे अपने जबाबो से सन्तुष्ट करके आप अपने प्रोडक्ट और अपने प्रति उसके मन में विश्वास पैदा कर सकते हैं परंतु इस अपॉर्चुनिटी को भुनाने के लिए हमें अपने प्रोडक्ट के बारे मे खासा ज्ञान होना चाहिए ।

प्रोडक्ट के बारे में अच्छी जानकारी होने है पर आपका कॉन्फिडेंस लेवल काफी हाई होता है अन्यथा हम काफी डरे डरे से होते हैं हम जब भी ग्राहक से मिलते हैं तो कुछ काॅमन बाते हमारे मन में गूंज रही होती है जैसे "कहीं कस्टमर कोई ऐसी बात ना पूछ ले जिसे हम ना बता सके और हमें शर्मिंदा होना पड़े"

दोस्तों एक बात और, ग्राहक को हम प्रोडक्ट के बारे में कुछ भी तभी बताएं जब वो हमसे उस बारे में पूछे ये सही नही । यदि हमें प्रोडक्ट की अच्छी नॉलेज है तो उसकी कुछ खास बातें बताकर हम ग्राहक को प्रोडक्ट की ओर आकर्षित कर सकते हैं । यानी सेल इस बात पर डिपेंड नहीं करता कि ग्राहक हमारे प्रोडक्ट के बारे में कितना जानता है बल्कि इस बात पर निर्भर करता है कि हम अपने प्रोडक्ट के बारे में कितना जानते हैं ।


रखे खुद पर विश्वास


दोस्तों मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में सफलता इस बात पर निर्भर नहीं करती कि आपके प्रोडक्ट पर लोग कितना ट्रस्ट करते हैं बल्कि इस बात पर निर्भर करती है कि आप को अपनी काबिलियत, अपनी क्षमताओं पर कितना भरोसा है । आपको अपने अन्दर ऐसा विश्वास जगाना होगा कि आप मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में एक बड़ी सफलता हासिल करेंगे । आप अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए हर वह प्रयास करेंगे, यहां तक कि अपने अंदर भी हर वह परिवर्तन करेंगे जो इस बिजनेस की सफलता के लिए जरूरी है ।


रहे सकारात्मक


दोस्तों क्या आपने किसी ऐसे काम को पूरे मन से किया है जिसमें सफलता की आशा बहुत कम रही हो मेरे ख्याल से आपका जवाब ना में होगा । निश्चित रूप से आपने उस कार्य को आधे अधूरे मन से किया होगा वहीं अगर आपको इस बात का दृढ़ विश्वास हो जाए कि आप जो काम कर रहे हैं उसमे निश्चित रूप से आपको सफलता प्राप्त होगी तब देखिए आप में कैसी अपार ऊर्जा उत्पन्न होती है सकारात्मकता से उत्पन्न हुई इस ऊर्जा को हमेशा बनाए रखिए । कभी भी नकारात्मक सोच को अपने ऊपर हावी मत होने दीजिए । इसे एक हथियार के रूप में इस्तेमाल कीजिए फिर देखिए कैसे सफलता आपके कदम चूमती है ।


रखें धैर्य


दोस्तों किसी भी बिजनेस में आना बहुत आसान है मगर उसमे सफलता प्राप्त कर पाना आसान नहीं है । किसी भी बिजनेस में कोई भी आ सकता है परंतु  सफलता हर किसी के हाथ नहीं लगती । बहुत से ऐसे लोग हैं जो अपना पूरा जीवन नए-नए बिजनेस को अपनाने में गुजार देते हैं परंतु कभी सफल नहीं हुए । इसका मुख्य कारण धैर्य की कमी का होना है ।

दोस्तों शुरू शुरू में हर नया काम अच्छा लगता है मगर धीरे-धीरे उसकी कठिनाइयां हमें तोड़ देती हैं । बस यहीं थोड़ा धैर्य रखने की आवश्यकता है, कठिनाइयों से जूझने की आवश्यकता है क्योंकि यही कठिनाइयों हमें ढेर सारा अनुभव दे जाती हैं और इस प्रकार हम अपने बिजनेस के मास्टर कहलाते हैं इसीलिए धैर्य को बनाए रखें क्योंकि सफलता कोई एक-दो दिन की वस्तु नहीं है ।

मत भूलें आपसे पहले इस क्षेत्र में बड़ी सफलता हासिल करने वाले लोगों को भी इन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा होगा यदि वे उस समय कठिनाइयों से हार मानकर पैर पीछे कर लेते तो आज आपके लिए एग्जांपल नहीं बन पाते ।


बहस से बचें


दोस्तों कई बार अपने प्रोडक्ट को लेकर या किसी अन्य विषय पर ग्राहक से हमारी बहस छिड़ जाती है दोस्तों मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में हमारा सबसे बड़ा बॉस हमारा कस्टमर होता है और यह बात तो हम सब भली भांति जानते हैं कि बॉस इज ऑलवेज राइट इस बात को हमेशा गांठ बांध ले कि हमें किसी भी हाल में अपने ग्राहक से बहस नहीं करनी है क्योंकि बहस का नतीजा हमेशा बुरा ही निकलता है इसीलिए बहस शुरू होने से पहले ही इसे टाल दें यह आपके लिए फायदेमंद साबित होगी ।


ईमानदारी है भरोसे के लिए


एक बार एक दुकानदार ने दुकान पर आए एक सेल्समैन को उसकी बकाया रकम देते हुए उसे गिनने को कहा । सेल्समैन ने जब पैसे गिने तो उसमें सौ रुपये ज्यादा थे । सेल्समैन के मन में चोरी की भावना उत्पन्न हुई । उसने कहा "पैसे ठीक हैं" ऐसा कहकर वह दुकान से  बाहर जाने लगा । दुकानदार को कुछ शक हुआ उसने अपने सीसीटीवी कैमरे में चेक किया तो उसे पता चला कि उसने सेल्समैन को सौ रुपये ज्यादा दिए हैं । चूंकि सेल्समैन अभी बाहर पहुंचा ही था कि दुकानदार ने उसे वापस बुला लिया और उसे वह सीसीटीवी फुटेज को दिखाया अब जरा कल्पना कीजिए कि उस समय सेल्समैन की क्या स्थिति रही होगी ।

त़ो इस प्रकार सेल्समैन को सब के सामने लज्जित होना पड़ा और उसने अपना एक बहुमूल्य ग्राहक भी हमेशा हमेशा के लिए खो दिया इसलिए यदि आपको मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में अपना  करियर बनाना है तो आपको पूरी तरह से ईमानदार बनाना होगा । एक न एक दिन आपका यह ईमानदारी व्यक्तित्व, लोगों को आप पर भरोसा करने के लिए मजबूर कर देगी ।

कुछ लोगों को मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में ऐसा लगता है कि यहां सिर्फ झूठ का ही बोलबाला है । उन्हें ऐसा लगता है कि यहां तो झूठ बोलकर ही काम चलाया जा सकता है मगर ऐसा नहीं है यदि आप झूठ बोलकर अपना प्रोडक्ट सेल कर रहे हैं तो वह दिन दूर नहीं जब आपका झूठ आपके ग्राहको के सामने आ जाएगा और फिर वह आपकी सच्ची बातों पर भी भरोसा नहीं करेगें और इस प्रकार कुछ ही दिनों में आप मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की इस दुनिया को अलविदा कहने के लिए मजबूर हो जाएंगे इसीलिए ईमानदार रहें ग्राहक को अपने प्रोडक्ट के बारे में बस उतना ही बताएं जितना हकीकत है । बढ़ा चढ़ाकर बताने या झूठे वादे करने से बचे ।

यदि ऐसी गलती हो भी जाती है तो अगली मीटिंग में ग्राहक से अपनी गलती स्वीकार कर लीजिए । उसे प्रोडक्ट देने से पहले सारी सच्चाई बता दीजिए, हो सकता है ऐसा करने से आपको मिला ऑर्डर वापिस हो जाए मगर निश्चित रूप से आपकी यह ईमानदारी आगे आपको ढेरों सफलताएं दिलाएंगे ।


रिलेशनशिप है फर्स्ट


सफलता या असफलता कोई एक-दो दिन की वस्तु नहीं होती इसीलिए मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में सफलता के लिए अपने प्रोडक्ट को बेचने से ज्यादा लोगों से अपने रिश्ते मजबूत करने पर ध्यान दीजिए हालांकि ऐसा नहीं है कि सिर्फ रिलेशन बनाकर आप सफल हो जाएंगे मगर हां रिलेशनशिप आपको अगले से अपनी बात करने का हक देती है । आप हक से अपनी बात रख सकते हैं । रिलेशनशिप मजबूत होने की स्थिति में कस्टमर भी एक प्रकार का दबाव महसूस करता है । वह स्वयं आपको बिजनेस देना चाहता है और इससे अच्छी बात भला क्या होगी कि जब कुआं खुद ही प्यासे के पास आना चाहता हो यानी ग्राहक स्वयं आपको बिजनेस देने के लिए सोच रहा हो ।


मदद के लिए रहे तत्पर


दोस्तों मार्केटिंग और नेटवर्क मार्केटिंग (डायरेक्ट सेलिंग) की दुनिया में आप स्वार्थी बनकर ज्यादा दिनों तक नहीं टिक सकते । आपको हमेशा अगले के भले के बारे में सोचना है । आप अपने कस्टमर की मदद कैसे कर सकते हैं यह हमेशा सोचे यदि आप अपने कस्टमर की हेल्प करने की सोचेंगे तो निश्चित रूप से वह भी आपके बारे में भी जरूर सोचेगा और फिर आपके लिए एक  बिग अपॉर्चुनिटी भी बन सकती है ।


   Writer
  Karan "GirijaNandan"
 With  
 Team MyNiceLine.com

यदि आप के पास कोई कहानी, शायरी , कविता, विचार या कोई जानकारी ऐसी है जो आप यहाँ प्रकाशित करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपने नाम और अपनी फोटो के साथ हमें इस पते पर ईमेल करें:
  Contact@MyNiceLine.Com
  हम  आपकी पोस्ट को, आपके नाम और आपकी फोटो (यदि आप चाहे तो) के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे ।

  "मार्केटिंग व नेटवर्क मार्केटिंग मे सफलता के लिए अपनाएं ये 10 खास टिप्स" आपको कैसी लगी कृपया, नीचे कमेंट के माध्यम से हमें जरूर बताएं । यदि लेख पसंद आया हो तो कृपया इसे Share जरूर करें !
loading...