10 November, 2017

Hindi Kavitayen | हिंदी कविताएँ


दोस्तो, आपको ये हिंदी कविताएँ कैसी लगी ,कृपया हमे बताए और हमारे पोस्ट्स को  कृपया अपने दोस्तो और परिवार के लोगो से शेयर करें.. 
           "आपके विचार, हमारा मार्गदर्शन"



अपनी कविता भेजें.....

        कोई कविता, शायरी, कहानी या जो कुछ भी आप हमसे शेयर करना चाहते हैं, उसे आप कृपया हमे अपनी फोटो के साथ भेजें,
अपनी कविता भेजें
 आपके द्वारा भेजी गई  कविता हम, आपके नाम और आपकी फोटो के साथ Publish (share) करेंगे .... :-  
हमारे सभी पोस्ट को अपने सोशल साइट्स (फेसबुक, ट्विटर, etc) पर प्राप्त करने के लिए, कृपया हमारे सोशल साइट्स को   
  follow करें 







"सपने"


देखे जिनके सपने,
वो नही थे अपने ।।
उनके भी सपने न्यारे,
कदमो में चाँद सितारे ।
उमीद उनकी न हुई पूरी,
ये रात भी रह गई अधूरी ।
देखे जिनके सपने 
वो नही थे अपने...
कुछ पल और रुक जाते,
बात मेरी भी मान जाते ।
दामन भर देता खुशियो से,
अगर विश्वास मेरा कर पाते ।
देखे जिनके सपने, 

वो नही थे अपने ।।
  Poet :-    "Ajay Kushwaha"
Note:- ये हमारी रचना नही, ये कविता हमे Email द्वारा प्राप्त हुई है इसके Writer, Ajay Kushwaha ji हैं

"सावन"

बूंद गिरे जब सावन की,
मन में हलचल होती है ।।
छम-छम करती पैजनिया सी,
नैनन को सुख देती है ।।
भीग उठे जब सावन में हम,
मन भी पावन हो जाए ।।
सावन की इस बरखा में,
मन वृंदावन सा हो जाए ।।
बरसों-बरस से प्यार से मन की,
प्यास बुझावन देती है ।।
छम छम करती पैजनिया सी,
नैनन को सुख देती है ।।
   Poet :-   "Karan "GirijaNandan"





MyNiceLine. com
MyNiceLine. com

MyNiceLine.com शायरी, कविता, प्रेरणादायक कहानीयों, जीवनी, प्रेरणादायक विचारों, मेक मनी एवं स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट है । जिसका मकसद इन्हें ऐसे लोगों तक ऑनलाइन उपलब्ध कराना है जो इससे गहरा लगाव रखते हैं !!

Follow Us On Social Media

About Us | Contact Us | Privacy Policy | Subscribe Now | Submit Your Post