तकलीफ़ की पोटली | दर्द भरी कविता

तकलीफ़ की पोटली प्रेरणा गहलोत की दर्द भरी कविता


 

तकलीफ़ एक हो तो बताऊं


तकलीफ़ की पोटली किस किस को दिखाऊं


उठाए नहीं उठते हैं अब ये


इसे और कहां तक ले जाऊं


आने वाले ग़मो का इल्म नहीं है


इसमें और क्या क्या छुपाऊं


भारी तो पहले से हीं है 


इसे क्या और भारी बनाऊं


                                   

Poet
प्रेरणा गहलोत



यह कविता प्रेरणा कुमारी द्वारा लिखी गई है | प्रेरणा कुमारी बेगूसराय, बिहार की रहने वाली है | समाज की  बुराइयों पर कुठाराघात करना आपकी कविताओं की प्रमुख विशेषता है | MyNiceLine पर  आपकी अन्य प्रमुख रचनाएं कृपया यहाँ पढें!

यदि  आप के पास कोई कहानी, शायरी , कविता  विचार या कोई जानकारी ऐसी है जो आप यहाँ प्रकाशित करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपने नाम और अपनी फोटो के साथ हमें इस पते पर ईमेल करें:
  Contact@MyNiceLine.com
  हम  आपकी पोस्ट को, आपके नाम और आपकी फोटो (यदि आप चाहे तो) के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे ।

"तकलीफ़ की पोटली | दर्द भरी कविता" आपको कैसी लगी, कृपया नीचे कमेंट के माध्यम से हमें बताएं । यदि कविता पसंद आई हो तो कृपया इसे Share जरूर करें !

Post a Comment

ये पोस्ट आपको कैसी लगी, कृपया यहां कमेंट करके बताएं 🙏

Previous Post Next Post